Breaking News
  • उदयपुर : सेना के कैम्पस एकलिंगगढ़ छावनी के पास भीषण आग, दमकल पहुंचीं
  • जोधपुर : पांच दिन से नहीं चल रही बस, फिर भी दिया एडवांस टिकट, रोडवेज की कारगुजारी
  • उदयपुर:सेना की एकलिंगगढ़ छावनी के पास भीषण आग,एसपी-कलक्टर मौके पर
  • सीकर : देह व्यापार में शामिल नेपाल की कॉल गर्ल, दलाल एवं होटल मैनेजर को जेल
  • किशनगढ़ : 50 लाख की अवैध शराब जब्त, चालक-खलासी हिरासत में
  • करौली : कई स्थानों पर आयकर की कार्रवाई, हिंडौन सिटी में भी छापे
  • नागौर : पैदल सड़क पार कर रहे पंजाब निवासी ट्रक चालक को बोलेरो ने मारी टक्कर, मौके पर ही मौत
  • जोधपुर:पावटा चौराहे के पास सड़क किनारे मिला बालिका का भ्रूण
  • बांसवाड़ा : गर्मी ने किया हाल बेहाल, मार्च में ही पारा 44 के पार
  • अलवर : ज्वैलरी खुर्द-बुर्द करने वाली मां गिरफ्तार, रेलवे में है कर्मचारी, मोहम्मद नूर हत्याकांड मामला
  • बांसवाड़ा : कार की चपेट में आने से बालिका घायल, उदयपुर लिंक रोड पर कर रही थी सड़क पार
  • उदयपुर : मसाज पार्लर संचालक के खिलाफ 20 घंटे में चालान पेश, ऑस्ट्रिया की महिला से छेड़छाड़ का मामला
  • भीलवाड़ा : सवा किलो अफीम के साथ गिरफ्तार किए गए तीन जनों को किया कोर्ट में पेश, लिया रिमांड पर
  • दौसा : राजस्थान स्थापना दिवस को लेकर कलक्ट्रेट से गेटोलाव तक निकाली साइकिल रैली
  • जोधपुर : पावटा चौराहे के पास सड़क किनारे मिला बालिका का भ्रूण, फैली दहशत
  • जयपुर : विधानसभा ने बनाया इतिहास, 2010 के बाद चला सबसे लंबा सदन, 16 घंटे 27 मिनट चला
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

मेवात में फैली अफवाह, स्कूलों में बच्चों की संख्या घटकर रह गई आधी

Patrika news network Posted: 2017-03-09 12:07:27 IST Updated: 2017-03-09 12:07:27 IST
मेवात में फैली अफवाह, स्कूलों में बच्चों की संख्या घटकर रह गई आधी
  • जिले के मेवात क्षेत्र में स्कूली बच्चों के पेट में टीके लगाने की फैलती जा रही अफवाह ने बच्चों के भविष्य पर संकट खड़ा कर दिया है। अफवाह के चलते अभिभावकों ने बच्चों को

भरतपुर.

जिले के मेवात क्षेत्र में स्कूली बच्चों के पेट में टीके लगाने की फैलती जा रही अफवाह ने बच्चों के भविष्य पर संकट खड़ा कर दिया है। अफवाह के चलते अभिभावकों ने बच्चों को


स्कूल भेजना ही बंद कर दिया है, जिससे शिक्षा विभाग भी गहरी चिंता में डूब गया है। प्रशासनिक मशीनरी लोगों को अफवाह से दूर रखने और व्यापक स्तर पर प्रचार करने में विफल साबित हो रही है।


एक पखवाड़े से चल रही अफवाह का दुष्प्रभाव यह हो चला है कि कामां, नगर तथा पहाड़ी ब्लॉक के सरकारी स्कूलों में बच्चों की संख्या घटकर 50 फीसदी से भी कम रह गई है। अफवाह दूर करने के लिए शिक्षा से लेकर चिकित्सा अधिकारियों की ओर से कई बैठकें हो चुकी हैं लेकिन जमीनी असर ज्यादा नजर नहीं आ रहा है। तीनों ब्लॉक में एक पखवाड़े पहले अफवाह फैली थी कि कोई टीम स्कूलों में जाकर बच्चों के पेट में टीके लगाती है।


इस अफवाह से प्रारम्भिक शिक्षा विभाग के स्कूलों में आने वाले बच्चों की संख्या में दिनोंदिन गिरावट होने लगी। यह अब भी जारी है। कुछ दिन बाद इन बच्चों की परीक्षाएं होनी हैं, ऐसे में स्कूल नहीं आने के चलते इनकी पढ़ाई बर्बाद हो रही है।


गाड़ी देख भाग जाते हैं बच्चे


जैसे ही विद्यालय के पास कोई भी गाड़ी आती है तो विद्यालय में मौजूद बच्चे उसे देखकर भाग जाते है। फिर बच्चे विद्यालय ही नहीं आते।

30 हजार नामांकन, आ रहे 15 हजार

जिले के नगर, कामां तथा पहाड़ी ब्लॉक में प्रारम्भिक शिक्षा विभाग के 339 स्कूल मौजूद हैं। जिनमें 30 हजार 598 विद्यार्थी नामांकित हैं। लेकिन अफवाह के चलते इन दिनों 15 हजार विद्यार्थीही रह गए।


दम तोड़ती समझाइश


शिक्षा विभाग के जिले से लेकर ब्लॉक स्तर के अधिकारियों की ओर से गांव-गांव का दौरा कर परिजनों से समझाइश की जा रही है परंतु इसका कोईअसर देखने को नहीं मिल रहा है। दूसरी ओर, चिकित्सा विभाग भी गांवों में बैठकें कर समझाइश कर रहा है।


अगले सत्र नामांकन की चिंता


क्षेत्र में फैली अफवाह यदि समय रहते दूर नहीं हुई तो सरकारी स्कूलों में नामांकन का लक्ष्य पूरा होने बजाए घटने की नौबत आ सकती है। नामांकन को बढ़ाने के लिए पिछले कुछ सालों से विशेष जोर दिया जा रहा है। यदि इसमें कमी आएगी तो शिक्षकों को इस संबंध में चार्जशीट भी मिल सकती है।

rajasthanpatrika.com

Bollywood