Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

अब नहीं लुटेगा किसान, व्यापारियों ने मंगाए इलेक्ट्रॉनिक कांटे

Patrika news network Posted: 2017-07-15 12:12:37 IST Updated: 2017-07-15 12:12:37 IST
अब नहीं लुटेगा किसान, व्यापारियों ने मंगाए इलेक्ट्रॉनिक कांटे
  • सरसों मंडी में देशी कांटे से फसल तुलाई में सडक़ पर दाने फैलाकर लुटते किसान को राहत मिलेगी। व्यापारियों ने मंडी में इलेक्ट्रॉनिक कांटे मंगा लिए हैं। अब इलेक्ट्रॉनिक कांटों से सरसों की तुलाई होने पर किसान लुटने से बचेगा। इसके चलते व्यापारियों ने सरसों मंडी, नवीन मंडी यार्ड व कुम्हेर की सब यार्ड मंडी स

भरतपुर.

सरसों मंडी में देशी कांटे से फसल तुलाई में सडक़ पर दाने फैलाकर लुटते किसान को राहत मिलेगी। व्यापारियों ने मंडी में इलेक्ट्रॉनिक कांटे मंगा लिए हैं। अब इलेक्ट्रॉनिक कांटों से सरसों की तुलाई होने पर किसान लुटने से बचेगा। इसके चलते व्यापारियों ने सरसों मंडी, नवीन मंडी यार्ड व कुम्हेर की सब यार्ड मंडी सहित कुल 136 इलेक्ट्रॉनिक कांटे मंगा लिए गए हैं। 

उठ रहे थे सवाल

सरकार ने मंडियों में फसल तुलाई के लिए इलेक्ट्रॉनिक कांटे लगाने के निर्देश कृषि उपज मंडी समिति को दिए थे। सरकार के निर्देश के बाद भी इलेक्टॉनिक कांटे नहीं लगना मंडी समिति पर सवालिया निशान लगा रहा था। अब भरतपुर की सरसों मंडी, नवीन यार्ड अनाज मंडी व कुम्हेर में सब यार्ड मंडी के व्यापारियों ने ही इलेक्ट्रॉनिक कांटे मंगाने की शुरूआत की है।

खोखा में रखते थे सरसों

सरसों की तुलाई के दौरान किसान को कितना नुकसान भुगतना पड़ा होगा  इसका अंदाजा मंडी परिसर में एक कौने में रखा लोहे का खोखा ही बता सकेगा कि पल्लेदारों ने कितनी क्विंटल सरसों सडक़ पर फैलाकर खोखे में भरी रहने वाली बोरियां में बंद कर दी। हालांकि मंडी समिति ने नोटिस जारी किए। वह भी बेअसर थे।

पत्रिका ने उठाई समस्या

इलेक्ट्रॉनिक कांटे के अभाव में लुटते किसान के दर्द को समझते हुए राजस्थान पत्रिका ने ‘सरसों उठाते ही वजन में लुटता किसान’ शीर्षक से समाचार प्रकाशित किया था। इस पर चेती मंडी समिति ने व्यापारियों से समझाइश की। तब मंडी में इलेक्ट्रॉनिक कांटे खरीदना जारी हुआ।


rajasthanpatrika.com

Bollywood