Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

मिली राहत तो हिम्मत आई...जुटे उजड़ा आशियाना बसाने में

Patrika news network Posted: 2017-07-16 11:22:38 IST Updated: 2017-07-16 11:22:38 IST
मिली राहत तो हिम्मत आई...जुटे उजड़ा आशियाना बसाने में
  • पत्रिका की खबर का असर:- भामाशाहों ने किया सहयोग, विधायक ने किया दौरा, वीरमनगर में बारिश के कहर का मामला

बाड़मेर।

राजस्थान पत्रिका शनिवार को फिर पीडि़त मानवता की सेवा का जरिया बना। शहर के निकटवर्ती वीरमनगर में शुक्रवार को बारिश से ढहे एक दर्जन कच्चे मकानों से तबाह हुए लोगों की पीड़ा पत्रिका में उजागर होने पर शनिवार को न केवल प्रशासनिक मशीनरी पहुंची। विधायक, सामाजिक संगठनों के प्रतिनिधियों समेत कई दानदाता भी वहां पहुंचे और पीडि़तों को राहत सामग्री के साथ-साथ नकद राशि भी मुहैया करवाई। 


सामाजिक संगठनों व प्रशासन से मदद मिलने की देर थी, पीडि़तों की जिन्दगी पटरी पर लौट आई। सब कुछ भूलकर वे फिर अपने नए आशियाने को तैयार करने में जुट गए। शाम तक कई जगह नए सिरे से झौपडिय़ां तैयार हो गई। उल्लेखनीय है कि जालीपा के पास वीरमनगर ढाणी में शुक्रवार शाम बारिश कहर बनकर आई। एक दर्जन से अधिक मकान ढह गए, जिससे कई लोग घायल हो गए।


आसमां तले गुजरी रात

बारिश के बाद कई घरों के टीनशेड उड़ गए। ऐसे में परिवार वालों ने आसमान तले रात गुजारी। हालांकि कुछ अपने रिश्तेदारों के यहां चले गए थे। शनिवार को टूटे घरों में बिखरे सामान को समेटा। भीगे सामान को सुखाने में भी लोग लगे रहे। प्रशासन व सामाजिक संगठनों ने पीडि़त परिवारों को रसद सामग्री व तिरपाल मुहैया करवाए।


राहत सामग्री से बनाया खाना

बारिश से घरों में रखा सामान भीग गया। राहत में खाद्य सामग्री मिलने पर अधिकांश के घर चूल्हे जले। लोगों ने पत्रिका का आभार जताया।


तिरपाल से बनाया आशियाना

तिरपाल मिलने पर पीडि़तों ने फिलहाल लकडिय़ों का घरौंदा बनाकर उस पर तिरपाल ढक दिया ताकि बारिश से परेशानी नहीं हो।


इन्होंने की मदद

वीरमनगर के 11 परिवारों को ग्राम पंचायत एवं पंचायत समिति की ओर से राहत सामग्री वितरण की गई। बाड़मेर पंचायत समिति के विकास अधिकारी नवलाराम चौधरी, पंचायत प्रसार अधिकारी ओंकारदान, देवीसिंह, समाजसेवी मोहनसिंह ने वीरमनगर पहुंचकर प्रभावित परिवारों को तिरपाल, खाद्य सामग्री वितरण की। बाद में विधायक मेवाराम जैन भी पहुंचे। पीडि़तों को उन्होंने एक-एक हजार रुपए नकद दिए। यूआईटी चेयरपर्सन प्रियंका चौधरी भी पीडि़तों से मिली। 

rajasthanpatrika.com

Bollywood