Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

बांसवाड़ा : डीईओ को दिखाई चूडिय़ां, गेट पर जड़ा ताला, पांच घंटे हंगामा, वार्ता बेनतीजा

Patrika news network Posted: 2017-07-13 12:45:22 IST Updated: 2017-07-13 12:45:43 IST
बांसवाड़ा : डीईओ को दिखाई चूडिय़ां, गेट पर जड़ा ताला, पांच घंटे हंगामा, वार्ता बेनतीजा
  • शिक्षक आदेश वापसी पर अडे़ रहे, डीईओ स्थाई समिति का हवाला देते रहे

बांसवाड़ा.

वर्ष 2012 में नियुक्त तृतीय श्रेणी के शिक्षकों का स्थायीकरण, 2015 में नियुक्त शिक्षकों का नियमितिकरण करने के आदेश की पालना नहीं करने के विरोध और अप्रशिक्षित शिक्षिकाओं के स्थायीकरण निरस्तीकरण का आदेश वापस लेने की मांग को लेकर जिला शिक्षा अधिकारी प्रारंभिक कार्यालय में बुधवार को दिनभर हंगामा हुआ। जिला शिक्षा अधिकारी के पहुंचने पर शिक्षिकाओं ने चूडि़यां दिखाई, वहीं मुख्य द्वार पर ताला जड़ दिया गया। अपराह्न में वार्ता का दौर शुरू हुआ, लेकिन बात नहीं बनी।


शिक्षक आदेश वापस लेने पर अडे़ रहे और डीईओ स्थाई समिति का हवाला देते रहे। राजस्थान शिक्षक संघ सियाराम के बैनर तले प्रदेशाध्यक्ष ललित आर पाटीदार व जिलाध्यक्ष अनिल व्यास के नेतृत्व में शिक्षक और शिक्षिकाएं सुबह से ही डीईओ कार्यालय में एकत्र हो गए और कुछ देर नारेबाजी की। बड़ी संख्या में शिक्षकों के पहुंचने और ढोल बजाने से कार्यालय के कार्मिक भी एकबारगी असमंजस में पड़ गए। शिक्षक-शिक्षिकाएं अपने साथ लाई दरियां बिछाकर वहीं डेरा जमाकर बैठ गए।


और जड़ दिया ताला


दोपहर करीब एक बजे डीईओ प्रेमजी पाटीदार कार्यालय पहुंचे तो कार्यालय परिसर में बैठी शिक्षिकाओं ने उन्हें चूडि़यां दिखाई। वहीं उनके मुख्य द्वार से भीतर जाने पर बाहर मौजूद शिक्षकों ने चैनल गेट बंद कर ताला जड़ दिया। इसके बाद डीईओ अपने कक्ष और कार्यालय सहायक कक्ष में बैठे, वहीं शिक्षक बाहर बैठे रहे। एक-डेढ़ घंटे तक यही हाल बने रहे। इसके बाद मौके पर मौजूद एएसआई गजेंद्रसिंह ने शिक्षकों से डीईओ से वार्ता करने को कहा। इस पर शिक्षक प्रतिनिधि व कुछ शिक्षिकाओं को अंदर आने दिया और बाद में फिर चैनल पर ताला लगा दिया।


डीईओ से वार्ता, नहीं हुआ निर्णय


करीब पौने तीन बजे पुलिस की मध्यस्थता में वार्ता शुरू हुई। इसमें शिक्षकों ने स्थायीकरण और नियमितिकरण के प्रकरणों में सुप्रीम कोर्ट, हाईकोर्ट, ट्रिब्यूनल आदि के आदेशों का हवाला दिया और जिला शिक्षा अधिकारी की ओर से गत दिनों पांच अप्रशिक्षित  शिक्षिकाओं के स्थायीकरण को निरस्त करने का आदेश वापस लेने की मांग पर अड़े रहे। वहीं डीईओ ने जिला परिषद की स्थापना समिति के निर्णय अनुसार आदेश निरस्त करने की बात कही, जिसका शिक्षकों ने विरोध किया। करीब एक घंटे की बहस के बाद जब डीईओ ने आदेश विड्रो करने से इनकार कर दिया तो एकबारगी शिक्षक प्रतिनिधि बाहर चले गए। कुछ देर बाद दोबारा बुलाकर बात की गई, लेकिन कोई नतीजा नहीं निकला।


प्रदेश पदाधिकारी बुलाएंगे


प्रदेशाध्यक्ष पाटीदार ने चेतावनी देते हुए कहा कि  संशोधन के नाम पर स्थायीकरण निरस्त करने के आदेश जारी किए हैं। इस मामले में प्रदेश कार्यकारिणी को बांसवाड़ा बुलवाया जाएगा। इसके बाद जवाब देना भारी पड़ जाएगा। इस पर डीईओ ने स्वयं के बीकानेर जाने, अधिकारियों को वस्तुस्थिति बताने और उसी अनुसार प्रोसेस जारी होने की बात कही, लेकिन शिक्षकों ने इसे अनसुना कर कहा कि न्यायालय की शरण लेने वालों के खिलाफ द्वेषतापूर्ण कार्रवाई की जा रही है।

rajasthanpatrika.com

Bollywood