Breaking News
  • भीलवाड़ा: दवाइयों से भरा ट्रक खड्डे में गिरा, एनएच सत्तूर के निकट हुआ हादसा
  • चित्तौड़गढ़: पैंथर ने किया तीन बकरियों का शिकार
  • भीलवाड़ाः मांडल में एसबीबीजे के बाहर से रुपए भरा बेग लेकर भागते बाल अपचारी को ग्रामीणों ने दबोचा
  • केंद्रीय वाणिज्य मंत्री निर्मला सीतारमण का जयपुर आगमन 27 को, इंडिया-सीएलएमवी बिजनेस कॉन्क्लेव में करेंगी शिरकत
  • जैसलमेर: चार हजार रुपए के लिए मौसा की हत्या करने वाला गिरफ्तार
  • जयपुर- गोविंदगढ़ में विवाहिता ने लगाई फांसी, सीएससी में रखवाया शव
  • बीकानेर: पलाना के पास बस पलटी, 15 घायल
  • अलवर: शिवपुर गांव में करंट से एक की मौत
  • श्रीगंगानगर- प्रशासन के आश्वासन के बाद गन्ना किसानों का धरना समाप्त
  • अजमेर: RAS 2013 में RPSC ने सरकार को भेजी 990 चयनित अभ्यर्थियों की सूची
  • जैसलमेर- बायतू में एसीबी ने एएनएम को रिश्वत मांगते किया गिरफ्तार, प्रसूता से मांगे थे 1800 रुपए
  • बाड़मेर-कबाड़ की दुकान में आग, कड़ी मशक्कत के बाद फायर ब्रिगेड ने आग पर पाया काबू
  • बाड़मेर- बायतु में ट्रेन की चपेट में आने से शिक्षक की मौत
  • अजमेर- करंट बर्थ उपलब्धता प्रणाली की शुरुआत, चार्ट बनने के बाद भी होगा रिजर्वेशन
  • अलवर- लिंग भ्रूण परीक्षण मामले में डॉक्टर सहित तीन की जमानत खारिज, कोर्ट ने न्यायिक अभिरक्षा में भेजा
  • सवाई माधोपुर : उलियाना गांव के खेतों में आई बाघिन, वन विभाग की टीम मौके पर पहुंची
  • बीकानेर- कोलायत में कार पलटी, दो मरे
  • बीकानेर- पीबीएम में रेजिडेंट डॉक्टर के नर्सिंगकर्मी को थप्पड़ मारने से मचा बवाल
  • नागौर- जीवनराम गोदारा हत्या काण्ड के आरोपी संजय पाण्डे की जमानत SC में खारिज
  • नागौर- बोरावड़ में विवाहिता चार वर्षीय पुत्र सहित फंदे पर लटकी मिली
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

बुधवार को इस जाप से बाधाएं होंगी दूर, जानें गजानन के 108 नामावली का रहस्य

Patrika news network Posted: 2016-11-30 08:03:25 IST Updated: 2016-11-30 08:08:29 IST
बुधवार को इस जाप से बाधाएं होंगी दूर, जानें गजानन के 108 नामावली का रहस्य
  • गणेशजी के 108 नाम को गणेश नामवली कहते हैं। इस नामावली का जाप करने से भगवान गणेश सभी परेशानियों को दूर करते हैं।

जयपुर।

हिंदू धर्म में भगवान गणेश विघ्नहर्त्ता माने गए हैं। भगवन शिव ने स्वयं गणेशजी को आशीर्वाद दिया था की किसी भी पूजा में सबसे पहले आपका स्मरण किया जाएगा। गणेशजी के 108 नाम को गणेश नामवली कहते हैं। इस नामावली का जाप करने से भगवान गणेश सभी परेशानियों को दूर करते हैं। साथ ही, भगवान गणेश का जाप करने वाले श्रद्धालु पर सदैव कृपा बनी रहती है।



108 नामावली का ये है अर्थ


-बालगणपति:सबसे प्रिय बालक, भालचंद्र:जिसके मस्तक पर चंद्रमा हो, बुद्धिनाथ:बुद्धि के भगवान, धूम्रवर्ण:धुंए को उड़ाने वाला, एकाक्षर:एकल अक्षर, एकदंत:एक दांत वाले, गजकर्ण:हाथी की तरह आंखें वाला, गजानन:हाथी के मुंख वाले भगवान, गजवक्र:हाथी की सूंड वाला, गजवक्त्र:जिसका हाथी की तरह मुंह है, गणाध्यक्ष:सभी जणों का मालिक, गणपति:सभी गणों के मालिक, गौरीसुत:माता गौरी का बेटा, लंबकर्ण:बड़े कान वाले देव, लंबोदर: बड़े पेट वाले, महाबल:अत्यधिक बलशाली वाले प्रभु, महागणपति: देवातिदेवमहेश्वर: सारे ब्रह्मांड के भगवान, मंगलमूत्ति:सभी शुभ कार्य के देव, मूषकवाहन:जिसका सारथी मूषक है, शूपकर्ण: बड़े कान वाले देव, शुभम: सभी शुभ कार्यों के प्रभु, सिद्धिदाता: इच्छाओं और अवसरों के स्वामी, सिद्दिविनायक: सफलता के स्वामी, निदीश्वरम: धन और निधि के दाता, प्रथमेश्वर: सब के बीच प्रथम आने वाला, सुरेश्वरम: देवों के देव, वक्रतुंड: घुमावदार सूंड, अखूरथ: जिसका सारथी मूषक है, अलम्पता: अनंत देव, अमित: अतुलनीय प्रभु,  अनंत चिदरुपम: अनंत और व्यक्ति चेतना, अवनीश: पूरे विश्व के प्रभु, अविघ्न: बाधाओं को हरने वाले, भीम: विशाल, भूपति: धरती के मालिक, भुवनपति: देवों के देव, बुद्धिप्रिय: ज्ञान के दाता, बुद्धिविधाता: बुद्धि के मालिक, चतुर्भुज: चार भुजाओं वाले, देवादेव: सभी भगवान में सर्वोपरी, देवांतकनाशकारी: बुराइयों और असुरों के विनाशक, देवव्रत: सबकी तपस्या स्वीकार करने वाले, देवेंद्राशिक: सभी देवताओं की रक्षा करने वाले, धार्मिक: दान देने वाला, दूर्जा: अपराजित देव, द्वैमातुर: दो माताओं वाले, एकदंष्ट्र: एक दांत वाले, ईशानपुत्र: भगवान शिव के बेटे, गदाधर: जिसका हथियार गदा है, गणाध्यक्षिण: सभी पिंडों के नेता, गुणिन: जो सभी गुणों के ज्ञानी, हरिद्र: स्वर्ण के रंग वाला, हेरंब: मां का प्रिय पुत्र, कपिल: पीले भूरे रंग वाला, कवीश: कवियों के स्वामी, कीत्ति: यश के स्वामी, कृपाकर: कृपा करने वाले, कृष्णपिंगाश: पीली भूरी आंख वाले, क्षेमंकरी: माफी प्रदान करने वाला, क्षिप्रा: आराधना के योग्य, मनोमय: दिल जीतने वाले, मृत्युंजय: मौत को हरने वाले, मूढ़ाकरम: जिन्में खुशी का वास होता है, मुक्तिदायी: शाश्वत आनंद के दाता, नादप्रतिष्ठित: जिसे संगीत से प्यार हो, नमस्थेतु: बुराइयों व पापों पर विजय प्राप्त करने वाले, नंदन: भगवान शिव का बेटा, सिद्धांथ: सफलता व उपलब्धियों की गुरु, पीतांबर: पीले वस्त्र धारण करने वाला, प्रमोद: आनंद, पुरुष: अद्भुत व्यक्तित्व, रक्त: लाल रंग के शरीर वाला, रुद्रप्रिय: भगवान शिव के चहीते, सर्वदेवात्मन: स्वर्गीय प्रसाद के स्वीकार्ता, सर्वसिद्धांत: कौशल व बुद्धि के दाता, सर्वात्मन: ब्रह्मांड की रक्षा करने वाला, स्कंदपूर्वज: भगवान कार्तिकेय के भाई, सुमुख: शुभ मुख वाले, स्वरुप: सौंदर्य के प्रेमी, ओमकार: ओम के आकार वाला, शशिवर्णम: जिसका रंग चंद्रमा को भाता हो, शुभगुणकानन: जो सभी गुण के गुरु हैं, श्वेता: जो सफेद रंग के रूप में शुद्ध है, सिद्धिप्रिय: इच्छापूर्ति वाले, तरुण: जिसकी कोई आयु न हो, उद्दंड: शरारती, उमापुत्र: पार्वती के बेटे, वरगणपति: अवसरों के स्वामी, वरप्रद: इच्छाओं और अवसरों के अनुदाता, वरदविनायक: सफलता के स्वामी, वीरगणपति: वीर प्रभु, विद्यावारिधि: बुद्धि की देवविघ्नहर: बाधाओं को दूर करने वाले, विघ्नहर्त्ता: बुद्धि की देव, विघ्नविनाशन: बाधाओं का अंत करने वाले, विघ्नराज: सभी बाधाओं के मालिक, विघ्नराजेंद्र: सभी बाधाओं के भगवान, विघ्नविनाशाय: सभी बाधाओं का नाश करने वाला, विघ्नेश्वर: सभी बाधाओं के हरने वाले,  भगवान विकट: अत्यंत विशाल, विनायक: सब का भगवान, विश्वमुख: ब्रह्मांड के गुरु, विश्वराजा: संसार के स्वामी, यज्ञकाय: सभी पवित्र और बलि को स्वीकार करने वाला, यशस्कर: प्रसिद्धि और भाग्य के स्वामी, यशस्विन: सबसे प्यारे और लोकप्रिय,  देवयोगाधिप: ध्यान के प्रभु। 

rajasthanpatrika.com

Bollywood