Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

Video : अलवर शहर में पशु मालिक ही कर रहे शहर के साथ धोखा, परिषद दे रही साथ

Patrika news network Posted: 2017-07-14 12:25:00 IST Updated: 2017-07-14 12:25:00 IST
  • इस कारस्तानी की पोल गुरुवार को नगर परिषद की पशु पकडऩे वाली टीम की कार्रवाई के दौरान खुलेआम देखने को मिली। जब नगर परिषद की टीम कार्यालय से निकली उससे पहले ही करीब एक दर्जन से अधिक पशुपालकों को यह खबर मिल चुकी थी कि आज पशु पकड़े जाएंगे।

अलवर.

अलवर शहर में कदम-कदम पर लावारिश स्थिति में घूमते नजर आने वाले पशुओं की आड़ में पशुपालक नगर परिषद कर्मचारियों की मिलीभगत से आमजन की आंख में धूल झोंक रहे हैं।


इस कारस्तानी की पोल गुरुवार को नगर परिषद की पशु पकडऩे वाली टीम की कार्रवाई के दौरान खुलेआम देखने को मिली। जब नगर परिषद की टीम कार्यालय से निकली उससे पहले ही करीब एक दर्जन से अधिक पशुपालकों को यह खबर मिल चुकी थी कि आज पशु पकड़े जाएंगे।


यही नहीं ज्यादातर को यह मालुम था कि पशु पकडऩे वाली टीम कौनसे रोड पर जाएगी। टीम के पहुंचने से पहले ही पशुपालकों ने पशुओं को दूसरी जगहों की आेर हांक दिया।  जब पशु पकड़ टीम नगर परिषद कार्यालय से निकली तो नजारा और भी चौकाने वाला था।


पश्ुापालक मोटरसाइकिलों पर आगे-आगे निकले। बीच-बीच में परिषद की टीम के लोगों से बातें करते हुए। खुद नगर परिषद के कर्मचारी उनको यह कहते सुने गए कि दो दिन की बात है पशुओं को दूसरी तरफ रखो। मतलब साफ है कि जनता से परिषद के कर्मचारी ही धोखा कर रहे हैं।


शहर में सैंकड़ो पशु सड़कों पर


अलवर शहर में सैंकड़ों पशु सड़़कों पर घूम रहे हैं। लोक अदालत के आदेश के बाद नगर परिषद की टीम ने पशुओं को पकडऩे की कार्रवाई की।


फिर पड़ताल की तो बताया उगाही होती है


नगर परिषद के कुछ कर्मचारियों ने इसकी जानकारी दी तो उन्होंने बिना कोई रिकॉर्ड किए बताया कि कुछ कर्मचारी पशुपालकों से उगाही करते हैं। जिसके कारण पशुपालकों की इतनी हिम्मत बढ़ रही है।


लोक अदालत के आदेश की परवाह नहीं


नगर परिषद के अधिकारियों को लोक अदालत के आदेश की परवाह नहीं है। तभी तो गुरुवार की पशुओं को पकडऩे की कार्रवाई के दौरान कोई अधिकारी मौजूद नहीं था। करीब दो घण्टे सड़कों पर घूमने के बाद गिने चुने पशुओं को पकडऩे की खानापूर्ति की कार्रवाई की गई।


कार्रवाई में सब की पुष्टि हो गई


नगर परिषद से पशु पकडऩे वाली टीम बड़ा वाहन लेकर मन्नी का बड़ की ओर निकली। यहां एक भी पशु नहीं मिला। फिर कम्पनी बाग के मुख्य द्वार तक भी कोई पशु नजर नहीं आया। आगे सोलंकी अस्पताल केपास एक पशु दिखा। जिसे मोटरसाइकिलों पर चल रहे पशुपालकों ने नगर परिषद के कर्मचारियों के सामने ही दूसरी आेर हांक दिया।


कर्मचारी भी यह देखते रहे और नंगली सर्किल की तरफ निकल गए। यहां भी दो पशु दिखे। जिसे पशुपालकों ने भगा दिया। फिर एसमडी की तरफ एक पशु मिला। उसे आवारा पशु पकड़ वाहन में बंद कर दिया। फिर आगे बढ़े एसएमडी सर्किल की तरफ। यहां भी कोई पशु नहीं मिला।


एसएमडी से जीडी कॉलेज की तरफ आए हैं। यहां करीब चार-पांच पशु सड़क पर बैठे दिखे। दो पशुपालक नगर परिषद की टीम से पहले ही पशुओं तक पहुंचे। दो पशुओं को पंचवटी की तरफ भगा दिया। एक गाय को पकड़ा। इसके अलावा दो बिंजार वहीं खड़े रहे। उनको पकड़ा भी नहीं।


अशोक खन्ना सभापति नगर परिषद अलवर ने बताया कि पशु पकड़ गैंग में कुछ कर्मचारी हैं। जिनकी शिकायत हैं। पशुपालक भी मनमर्जी करते हैं। लेकिन कोई सबूत नहीं होता है। जिसके कारण कोई कार्रवाई नहीं की जाती है। अब जांचकर त्वरित कार्रवाई करेंगे।


rajasthanpatrika.com

Bollywood