Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

Video : ढाई साल बाद हाथ में पट्टा मिला तो खुशी का नहीं रहा ठिकाना

Patrika news network Posted: 2017-05-19 09:23:43 IST Updated: 2017-05-19 18:05:05 IST
  • 60 फीट रोड निवासी अंगूरी देवी की उम्र करीब 60 साल से अधिक है। ढाई साल बाद जन कल्याण शिविर में पट्टा हाथ में आया तो खुशी का ठिकाना नहीं रहा।

अलवर.

60 फीट रोड निवासी अंगूरी देवी की उम्र करीब 60 साल से अधिक है। ढाई साल बाद जन कल्याण शिविर में पट्टा हाथ में आया तो खुशी का ठिकाना नहीं रहा।


 यूआईटी कार्यालय में पट्टा हाथ में आया तो वह बोली एेसा लग रहा है जैसे गंगाजी नहा लिए हों। पति तो भगवान को प्यारे हो गए। आज एक मां के सिर से बोझ सा उतरा है।


 अंगूरी देवी ने साठ फुट रोड पर ही एक भूखण्ड के पट्टे के लिए अक्टूबर 2015 में आवेदन किया था। यूआईटी में इतने चक्कर लगाकर थक गई, अब पट्टा मिला तो खुशी दुगनी हो गई। 


उसने बताया कि तीन बेटों को बराबर करने के उद्देश्य से पट्टा लेने के पीछे पड़ी रही। इस शिविर के लगने के बाद तुरन्त काम हो गया।


 अंगूरी देवी को पट्टा देते समय यूआईटी के उप सचिव अखिलेश पीपल ने बताया कि इनका सेटबैक के कारण पट्टा अटका हुआ था। अब शिविर में छूट दिए जाने के आदेश प्राप्त हुए तो अविलम्ब पट्टा जारी कर दिया।


 100 किमी से 100 बार से ज्यादा आया  नीमराणा के निकट तलवाना गांव निवासी लीलाराम को यूआईटी कार्यालय में करीब चार साल बाद में पट्टा मिल गया। पट्टा मिलने पर लीलाराम ने कहा मुझे खुशी सिर्फ इस बात की है कि शिविर में पट्टा थमा दिया गया। वरना मैं पिछले चार साल में यूआईटी में 100 चक्कर लगा चुका है। वो भी सौ किलोमीटर दूर गांव से आता हूं। मुझे पट्टा मिला है लेकिन मेरा दिल ही जानता है परेशान कितना हुआ हूं। यह बात भी सही है कि इस शिविर में अधिकारियों का पूरा सहयोग मिला।


क्षेत्रवार लग रहे शिविर

शिविर में रोजाना पट्टों का काम होने लगा है। जिनके पट्टे तैयार हो रहे हैं उनको अधिकारी शिविर में भी उपलब्ध करा रहे हैं।


 इस बार शिविर क्षेत्रवार लगाए जा रहे हैं। जिसके कारण आमजन को सहूलियत मिली है।


  

यूआईटी सचिव कमलराम मीणा ने बताया कि शिविर में जिनके आवेदन पहले से जमा हैं। उनकी छंटनी की है। नए आवेदन लेकर तय समय में जांच कार्य कराने के बाद हाथोंहाथ पट्टे देने का प्रयास हो रहा है।


 कोई कर्मचारी अनावश्यक गुमराह करे तो उसकी शिकायत करें। तुरंत कार्रवाई की जाएगी। 

rajasthanpatrika.com

Bollywood