Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

Video : अब यहां पर अपराध करना होगा मुश्किल, पूरे शहर में हाईटैक सुरक्षा व्यवस्था

Patrika news network Posted: 2017-07-15 11:41:40 IST Updated: 2017-07-15 12:06:12 IST
  • नई व्यवस्था के तहत शहर के पुलिस कंट्रोल रूम परिसर में नया कंट्रोल रूम स्थापित किया जाएगा। प्रथम चरण में अलवर शहर में 400 नए कैमरे और पुलिस की सभी गाडि़यों में जीपीएस सिस्टम लगेगा। इससे प्रत्येक वाहन की लॉकेशन पता चल सकेगी।

हिमांशु शर्मा. अलवर.

अपराध पर नकेल कसने तथा सुरक्षा व्यवस्था को और पुख्ता करने के लिए अब अलवर पुलिस भी दिल्ली-गुडग़ांव शहरों की तर्ज पर हाईटेक होगी। नई व्यवस्था के तहत शहर के पुलिस कंट्रोल रूम परिसर में नया कंट्रोल रूम स्थापित किया जाएगा। प्रथम चरण में अलवर शहर में 400 नए कैमरे और पुलिस की सभी गाडि़यों में जीपीएस सिस्टम लगेगा। इससे प्रत्येक वाहन की लॉकेशन पता चल सकेगी।


एनसीआर का महत्वपूर्ण हिस्सा होने के चलते अलवर अपराधों के मामले में संवेदनशील माना जाता है। यही कारण है कि सरकार ने जिले में नई व्यवस्था लागू करने की कार्ययोजना तैयार की है। यह व्यवस्था लागू होने पर शहर में आने जाने वाले प्रत्येक वाहन व व्यक्ति पर पुलिस की नजर रहेगी। वहीं पुलिस को फोन करने वाले का नाम, पता व फोन करने का स्थान पुलिस को तुरंत पता चल सकेगा।


प्रदेश में जयपुर के बाद अब अलवर की पुलिस भी आधुनिक सुविधाओं व उपकरणों से लैस नजर आएगा। कंट्रोल रूम में अलवर का डिजीटल मानचित्र लगेगा। फोन करने वाले का नाम, पता व स्थान पुलिस को तुरंत पता चल जाएगा। गश्त पर लगी गाडि़यों में ऑटोमेटिक एफआईआर दर्ज करने वाली मशीनें भी लगेंगी। इसका लाभ यह होगा कि फोन करते ही प्राथमिक रिपोर्ट दर्ज हो जाएगी।


इसके लिए कंट्रोल रूम में जगह चिह्नित कर ली गई है। साथ ही फोन कम्पनियों से डाटा जुटा लिया गया है। नई व्यवस्था के लिए शुरुआती स्तर पर किए जाने वाले कार्य पूरे हो चुके हैं। इसके लिए एसीएम जावेद अली व पुलिस के डिप्टी एसपी जय सिंह नाथावत को नोडल प्रभारी बनाया गया है। शहर के बाद पूरे जिले को इसी व्यवस्था के तहत जोड़ा जाएगा।


अभी कैमरे हैं खराब


अभी कुछ दिन पहले व्यापारियों की तरफ से शहर में 37 नए कैमरे लगाए गए थे। इनमें से केवल 13 ही कैमरे चालू हालत में है। जबकि यूआईटी की तरफ से पहले 21 कैमरे लगाए गए थे। ये सभी कैमरे बंद पड़े हैं।


नम्बर प्लेट व व्यक्ति की होगी पहचान


नए कैमरे हाई रेजूलेशन के होंगे। इसकी मदद से चलते वाहनों की नम्बर प्लेट व चलते हुए व्यक्ति के चेहरे पहचाने जा सकेंगे। अभी लगे कैमरों की मदद से चोर व बदमाशों की पहचान नहीं हो पाती है।


जय सिंह नाथावत सीओ अलवर ने बताया कि सचिव व आयुक्त सूचना प्रोद्योगिकी व संचार विभाग के सहयोग से सुरक्षा व्यवस्था में यह बदलाव किया जा रहा है। इसका सीधा फायदा आम आदमी को मिलेगा। पुलिस कंट्रोल रूम में पीछे की तरफ नया कंट्रोल बनाया जाएगा। तीन शिफ्टों में कंट्रोल रूम काम करेगा। सभी थाना प्रभारियों से उनके क्षेत्र में कैमरे लगाने के लिए जगह चिहिंत करने के लिए कहा गया है। नई व्यवस्था को लागू करने के लिए तेजी से काम चल रहा है।


rajasthanpatrika.com

Bollywood