Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

Video : अनूठी मिसाल : सांस्कृतिक विरासत समझी तभी तो 200 साल से जिंदा है यह तालाब

Patrika news network Posted: 2017-06-19 17:51:47 IST Updated: 2017-06-19 17:51:47 IST
  • नीमराणा क्षेत्र का रेवाना गांव एक अनूठी मिसाल पेश का रहा है। ग्रामीणों ने जल के महत्व को समझते हुए 200 साल से पुराने 70 फीट गहरे अमृत सरोवर (तालाब) को संरक्षित कर रखा है।

होशियार यादव. नीमराणा. अलवर.

देश में बेतहाशा बढ़ते आबादी क्षेत्र के चलते मिट्टी डालकर जहां एक ओर तालाबों को जमींदोज किया जा रहा है। वहीं दूसरी ओर नीमराणा क्षेत्र का रेवाना गांव एक अनूठी मिसाल पेश का रहा है। ग्रामीणों ने जल के महत्व को समझते हुए 200 साल से पुराने 70 फीट गहरे अमृत सरोवर (तालाब) को संरक्षित कर रखा है। 


ग्रामीणों ने तालाब को गांव की सांस्कृतिक विरासत समझते हुए बिना किसी सरकारी सहायता और अनुदान के तालाब में पहाड़ों से पानी आने वाले जल स्रोतों की सार संभाल और तालाब के पेटे की जमीन और नालों पर होने वाले अतिक्रमणों को रोक कर तालाब को जिंदा रखे हैं।


ग्रामीणों का कहना है कि आज तक यह तालाब सूखा नहीं है। वहीं तालाब के चारों ओर बहुत ही सुंदर व कलात्मक ढंग से पुरुष और महिलाओं के नहाने-धोने के लिए घाट बने हैं। पशुओं के लिए अलग से मुहानों, बच्चों की जल किलोल के लिए झरोखेदार पेडिया बनी हैं।  वहीं जंगल और पहाड़ी नालों से जोड़ कर पानी आने की एेसी नहर बनी है, मजाल क्या वर्षा के पानी के साथ मिट्टी आदि आ जाए।


तालाब आस्था का भी केन्द्र


राठ क्षेत्र के रेवाना गांव स्थित इस तालाब से जुड़े श्री रामस्वरूप दास महाराज मंदिर धाम पर हर वर्ष धुलण्डी सहित कई मेले लगते हैं। बाबा रामश्वरूप दास मन्दिर धाम के महंत जशवंत दास ने बताया कि  200 साल पहले से तालाब बना है, जिसको आश्रम के महन्त के साथ मिलकर सभी भक्त गण साफ  स्वछ रखते हैं। यहां के पानी को पवित्र माना जाता है। दूर-दूर से लोग पानी को बोतलों व अन्य पात्रों में भर कर ले जाते हैं।


वर्षा ऋतु से पहले ही तैयारी में जुट जाते युवा


रेवाना गांव के सरपंच अनिल यादव के साथ प्रवीण कुमार व राजकुमार ने बताया कि ज्योही वर्षा के दिन नजदीक आते हैं, युवकों का दल तालाब के चारों तरफ  की जमीन पर उगे झाड़ बोझडो व पानी के आड़े आने वाली अन्य रुकावटों को हटाने में लग जाते हैं। इसके साथ  तालाब की दीवारों को रंग-रोगन कर कायापलट करते हैं उनका तालाब अच्छा दिखता रहे।

rajasthanpatrika.com

Bollywood