Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

अब आसमान से होगी अलवर शहर की निगरानी, हर गतिविधि पर रहेगी पैनी नजर

Patrika news network Posted: 2017-07-12 18:50:38 IST Updated: 2017-07-12 18:50:38 IST
अब आसमान से होगी अलवर शहर की निगरानी, हर गतिविधि पर रहेगी पैनी नजर
  • दिन व रात के फोटो के लिए अलग-अलग कैमरे लगे हुए हैं। ड्रोन से ली गई तस्वीरें बाद में अपराधी को सजा दिलाने में सबूत का काम करेंगी। करीब 32 लाख रुपए का यह ड्रोन रिमोट से संचालित होगा। इसके पायलट व को-पायलट इसकी लोकेशन भी बदल सकेंगे।

अलवर.

अपराधियों की प्रत्येक गतिविधि पर पुलिस अब आकाश से नजर रखेगी। अपराधियों का ना सिर्फ फोटो लिया जाएगा, बल्कि उनकी प्रत्येक हरकत कैमरे में कैद हो जाएगी। गैंगेस्टर आनंदपाल के गांव सांवराद में ड्रोन के सफल प्रयोग के बाद पुलिस मुख्यालय ने अलवर पुलिस को भी एक ड्रोन कैमरा दिया है। अब ड्रोन से अलवर शहर सहित जिले की निगरानी की जाएगी।


ड्रोन की खास बात ये है कि यह एक से डेढ़ किलोमीटर की ऊंचाई से भी घटना की साफ तस्वीरें ले सकता है। इसमें दिन व रात के फोटो के लिए अलग-अलग कैमरे लगे हुए हैं। ड्रोन से ली गई तस्वीरें बाद में अपराधी को  सजा दिलाने में सबूत का काम करेंगी। करीब 32 लाख रुपए का यह ड्रोन रिमोट से संचालित होगा। इसके पायलट व को-पायलट इसकी लोकेशन भी बदल सकेंगे।


सभी संभाग मुख्यालयों को भेजे ड्रोन


पुलिस मुख्यालय ने फिलहाल जयपुर सहित सभी संभाग मुख्यालयों को एक-एक ड्रोन कैमरा भेजा है। जयपुर ग्रामीण संभाग को मिले ड्रोन कैमरे का हैडक्वार्टर रहेगा। अलवर से जरूरत पडऩे पर ड्रोन को संभाग के अन्य जिलों सीकर, झुझुनूं, दौसा, जयपुर ग्रामीण भेजा जाएगा।


मेला, त्योहार व चुनाव में साबित होगा मददगार


ड्रोन कैमरा मेला, त्योहार व चुनावों में भी पुलिस के लिए मददगार साबित होगा। दरअसल,  मेला व चुनाव के दौरान हर गतिविधि पर नजर रखना पुलिस के लिए चुनौती होता है। कई बार चाहकर भी पुलिस हर गतिविधि पर नजर नहीं रख पाती। अब ड्रोन की मदद से पूरे क्षेत्र पर नजर रखी जा सकेगी। मेला, त्योहार के दौरान जहां भीड़ अधिक होगी और उपद्रव की संभावना बनेगी, ड्रोन की मदद से पुलिस तुरन्त वहां पहुंच जाएगी।


ड्रोन से अपराध नियंत्रण व कानून व्यवस्था को बनाए रखने में मदद मिलेगी। मुख्यत: भीड़ पर नियंत्रण में उपयोगी साबित होगा। ड्रोन के संचालन का लगातार अभ्यास किया जा रहा है। यह एक से डेढ़ किलोमीटर की ऊंचाई से भी साफ तस्वीरें ले सकेगा।

राहुल प्रकाश जिला पुलिस अधीक्षक अलवर ने बताया कि

rajasthanpatrika.com

Bollywood