Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

गौ तस्कर फायरिंग कर गच्चा दे गए, पुलिस ने दस गौवंश मुक्त कराए

Patrika news network Posted: 2017-03-18 19:38:01 IST Updated: 2017-03-18 19:38:01 IST
गौ तस्कर फायरिंग कर गच्चा दे गए, पुलिस ने दस गौवंश मुक्त कराए
  • अलवर जिले के खेरली कस्बे की स्थानीय पुलिस ने शुक्रवार रात गौतस्करों का पीछा कर टाटा-407 में भरे दस गौवंश को मुक्त कराया। वहीं, गौतस्कर फायरिंग करते हुए पुलिस को गच्चा देकर भागने में कामयाब रहे।

अलवर

अलवर जिले के खेरली कस्बे की स्थानीय पुलिस ने शुक्रवार रात गौतस्करों का पीछा कर टाटा-407 में भरे दस गौवंश को मुक्त कराया। वहीं, गौतस्कर फायरिंग करते हुए पुलिस को गच्चा देकर भागने में कामयाब रहे।



थाना पुलिस ने बताया कि शुक्रवार देर रात सूचना मिली कि गौतस्कर टाटा-407 गाड़ी में गौवंश को भरकर ले जा रहे है। इस पर पुलिस ने गौतस्करों की गाड़ी का पीछा किया। पुलिस की गाड़ी को देख गौतस्करों ने अपने वाहन को भगा ले जाने का प्रयास किया। पुलिस की घेराबंदी को देख गौतस्कर निकटवर्ती ग्राम गालाखेडा-सौंखरी के पहाड़ की तलहटी में गौवंश से भरी गाड़ी को छोड़कर भागने लगे। 



पुलिस के पीछा करने पर गौतस्कर फायरिंग करते हुए भागने में सफल रहे। पुलिस ने गौवंश से भरी गाड़ी को अपने कब्जे में लिया, जिसमें से 10 गौवंश को मुक्त करा शनिवार सुबह ग्राम अलीपुर स्थित कालिया गौशाला में छोड़ा। वहीं, पुलिस ने गौतस्करों की गाड़ी से 20 लीटर देशी हथकढ़ शराब से भरी कैन बरामद की। पुलिस ने बताया कि गौतस्करी करने के आरोप में अज्ञात लोगों के खिलाफ प्रकरण दर्ज कर जांच जारी है।



पकड़े नहीं जाते गौतस्कर


साल 2017 में स्थानीय पुलिस की गौतस्करी के मामले में सफलता हासिल करने का शुक्रवार रात्रि तीसरा मुकाम था। इससे पूर्व 25 जनवरी को निकटवर्ती ग्राम पीपलखेड़ा स्थित रेलवे पुलिया के पास गाडी का टायर कीचड़ में धंस जाने पर गौतस्कर गाड़ी छोड़कर भाग गए थे। इसलिए वहां भी पुलिस को सिर्फ 8 गौवंश व 35 लीटर देशी हथकढ़ शराब ही मिली। 



इसके अलावा एक मार्च को निकटवर्ती ग्राम पंचायत भनोखर के ग्राम पचकुंई में बारात के भय से गौतस्कर गाड़ी को छोड़कर भाग गए। वहां भी पुलिस ने 11 गौवंश के साथ 25 लीटर देशी हथकढ़ शराब बरामद की। उक्त मामलों में गौतस्करों की गिरफ्तारी नहीं होना पुलिस कार्यप्रणाली पर सवाल खड़ा है।



पुलिस जीप खराब थी


इस मामले में स्थानीय थानाधिकारी हितेश कुमार शर्मा का कहना है कि पुलिस की सरकारी जीप शुक्रवार को खराब थी। इसलिए निजी वाहन से ही गौतस्करों का पीछा किया जो कि भागने में असफल रही और गौतस्कर भागने में सफल हुए। उल्लेखनीय है कि लेकिन इससे पूर्व गौतस्करी के दो मामलों में पुलिस के पास सरकारी जीप ही थी, लेकिन फिर भी एक भी गौतस्कर पुलिस के हाथ नहीं लगा।

rajasthanpatrika.com

Bollywood