Video : दो बेटियों को धक्का देकर खुद टे्रन के आगे कूदी महिला, ब्रेक लगने से बची जान

Patrika news network Posted: 2017-03-18 05:55:32 IST Updated: 2017-03-18 13:30:45 IST
  • अलवर जंक्शन के प्लेट फार्म नम्बर एक पर शुक्रवार को दोपहर करीब साढ़े तीन बजे एक महिला ने आला हजरत बरेली एक्सप्रेस ट्रेन के आगे पहले अपनी दो बेटियों को फेंका, उसके बाद खुद कूद गई। लेकिन लोको पायलट का ध्यान पडऩे पर उसने तुरंत ब्रेक लगा दिए।

अलवर.

अलवर जंक्शन के प्लेट फार्म नम्बर एक पर शुक्रवार को दोपहर करीब साढ़े तीन बजे एक महिला ने आला हजरत बरेली एक्सप्रेस ट्रेन के आगे पहले अपनी दो बेटियों को फेंका, उसके बाद खुद कूद गई। लेकिन लोको पायलट का ध्यान पडऩे पर उसने तुरंत ब्रेक लगा दिए। स्टेशन पर मौजूद लोगों ने महिला व बच्चों को बचा लिया और पुलिस के हवाले कर दिया। पुलिस ने महिला के परिजनों को उसकी सूचना दी है।


रेलवे पुलिस के अनुसार नूतन पत्नी हरीबोल मूल निवासी नारायणपुर अभी जयपुर के श्याम नगर में रहती है। हरीबोल जयपुर में मजदूरी करता है। कुछ दिनों से वह बीमार था। नूतन के भाई ने हरीबोल का अस्पताल में इलाज कराया। इस दौरान हरीबोल की मां व भाई जयपुर आए।


नूतन उनके साथ दिल्ली चली गई। शुक्रवार को दोपहर में अलवर जंक्शन पर यह कदम उठा लिया। पुलिस ने महिला ने पूछताछ की, लेकिन उसने कुछ बताया नहीं।  बाद में जीआरपी पुलिस ने नूतन के भाई को उसकी सूचना दी। महिला बच्चियों सहित आत्महत्या क्यों कर रही थी, अभी तक इसका पता नहीं चल सका है।


इस मामले के दौरान अलवर जंक्शन पर कुछ देर तक आला हजरत बरेली एक्सप्रेस ट्रेन रुकी रही। तो मौके पर बड़ी संख्या में लोग भी जमा हो गए। कुछ देर तक जंक्शन के प्लेट फार्म नम्बर एक पर हंगामा होता रहा। घटना के तुरंत बाद महिला इतनी डर गया थी कि वो कुछ बोल नहीं पा रही थी।


पुलिस कर्मियों ने महिला से उसका नाम, पता व पति के बारे में पूछा। लेकिन वो कुछ नहीं बोल पा रही थी। वो बुरी तरह से कांप रही थी। उसे देखकर लग रहा था कि वो डरी हुई है।


आए दिन होती हैं घटनाएं


अलवर जंक्शन व आसपास एरिया में ट्रेन से कटकर आए दिन लोगों की मौत होती है। जयपुर मार्ग पर अलवर जंक्शन से काली मोरी रेलवे फाटक व दिल्ली मार्ग पर अलवर जंक्शन से आरआर कॉलेज तक रेलवे ट्रैक के दोनों तरफ आवासीय क्षेत्र है।


ऐसे में दिनभर लोग रेलवे ट्रैक के पास बैठे रहते हैं व बच्चे खेलते हैं। हजारों लोग रेलवे ट्रैक पार करते हैं। कई बार रेलवे ट्रैक के दोनों तरफ तारबंदी की मांग उठ चुके हैं। लेकिन अभी तक उस पर कोई ध्यान नहीं दिया गया है। इसलिए रेलवे जंक्शन लोगों के खून से लाल होता है।

rajasthanpatrika.com

Bollywood