Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

Search Results : study

...इस सरकारी स्कूल में पढ़ते हैं शिक्षकों के बच्चे

सरकारी स्कूलों को लेकर लोगों के मन में यह भी धारणा है कि सरकारी स्कूलों में वे लोग अपने बच्चे पढ़ाते हैं जो गरीब हैं या फिर निजी स्कूलों की फीस वहन करने में अमसर्थ है। जिला मुख्यालय स्थित सेठ किशनलाल कांकरिया राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय ने इन सभी धारणाओं को झूठला दिया है।

आरटीयू का सातवां दीक्षांत समारोह, पहली बार प्रदान किए स्वर्ण पदक, पोर्टल पर अपलोड होंगी सभी डिग्रियां

राजस्थान तकनीकी विश्वविद्यालय कोटा का सातवां दीक्षांत समारोह बुधवार को यूआईटी ऑडिटोरियम में हुआ। समारोह में राज्यपाल ने इस वर्ष कुलाधिपति स्वर्ण पदक निधि अग्रवाल को व हर्षित कुमार वैष्णव को कुलपति स्वर्ण पदक प्रदान किया। सभी डिग्रियों को ऑनलाइन एक प्लेटफार्म पर रखा जाएगा।

शोध: बच्चों को मिट्टी में खेलने दें, हानिकारक नहीं बल्कि प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाती है मिट्टी

वैज्ञानिकों का भी मानना है कि मिट्टी बच्चों के लिए हानिकारक नहीं है, बल्कि उनकी प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाती है।

राजस्थान पत्रिका अभियान 'नींव शिक्षा का सवाल' रंग लाया, बच्चों को नजर आ रहा है अब सुनहरा भविष्य

झालावाड़ शहर के शहीद निर्भयसिंह राजकीय प्राथमिक विद्यालय हाऊसिंग बोर्ड में राजस्थान पत्रिका का 'नींव शिक्षा का सवाल' रंग लाया। यहां एक शिक्षिका थी। लेकिन अब स्कूल में एक शिक्षिका की जगह पांच शिक्षक हो गए है। यहां अब हर कक्षा को अलग-अलग शिक्षक पढ़ा रहे हैं।

विभाग की लापरवाही पड़ी बच्चों पर भारी, बाजार से खरीद रहें है पाठ्य सामग्री

अल्पसंख्यक विभाग की अनदेखी का खामियाजा जिले के मदरसों में पढऩे वाले विद्यार्थियों को इस साल उठाना पड़ रहा है।

देखेंvideo:निरीक्षण नहीं, वन्दन करने आया हूं

शिक्षा विभाग (माध्यमिक) के उपनिदेशक सीताराम गर्ग ने कहा कि वे निरीक्षण करने नहीं विद्यालय को वन्दन करने आए हैं।

पत्रिका अभियान 'नींव शिक्षा का सवाल'

झालावाड़ राजकीय स्कूलों में शिक्षकों की कमी से जुझ रहे कई विद्यालयों में बच्चों को एक ही शिक्षक से पढ़ाई करनी पड़ रही है। ऐसे में 'राजस्थान पत्रिका' ने छात्रों की परेशानी को समझते हुए सामाजिक सरोकारों के तहत नींव शिक्षा के सवाल के माध्यम से स्कूलों में नि:शुल्क अध्ययन करवाने का बीड़ा उठाया है।

स्कूल खुले एक माह हो गया, स्कूल में फैली गदंगी छात्र ही कर रहे साफ

शैक्षणिक सत्र शुरू हुए एक माह होने जा रहा है। लेकिन ऐसे स्कूल भी है,जहां अभी तक गोबर व मेवेशियों का मूत्र व सुअरों की गदंगी फैली हुई है। जी हां, मामला राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय बड़ोदिया का है

6 साल की बच्ची पर नहीं आया उस दरिंदे को रहम, सूनसान जगह ले जाकर बनाया अपनी हवस का शिकार

अपर जिला न्यायाधीश (पोक्सो मामलात) ने मासूम बालिका से दुराचार के अभियुक्त कुराड़ी निवासी गोपाल को उम्रकैद व 25 हजार रुपए जुर्माने की सजा सुनाई।

Astrology

  • मेष

  • वृषभ

  • मिथुन

  • कर्क

  • सिंह

  • कन्या

  • तुला

  • वृश्चिक

  • धनु

  • मकर

  • कुंभ

  • मीन

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें