Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

पिता के एक हाथ में भारी भरकम बैग तो दूसरे में लगैज ट्रॉली, पीछे मां के हाथों में दस्तावेजों का पुलिंदा। एक कोचिंग इंस्टीट्यूट से दूसरे और दूसरे से तीसरे, बस एक ही उम्मीद लिए अभिभावक घूम रहे की यहां बेटा या बेटी पढ़ लिए तो भविष्य बन जाएगा। दसवीं एवं बारहवीं कक्षा के रिजल्ट आने के बाद अपने लाडलों के सुनहरे भविष्य के लिए देश के कोने-कोने से अभिभावकों का कोटा आने का सिलसिला जारी है। वर्तमान में कोटा में करीब 30 हजार से अधिक अभिभावक तो आ चुके। करीब एक हजार अभिभावक रोजाना आ रहे हैं। यह सिलसिला जुलाई के अंत तक जारी रहेगा। राजस्थान पत्रिका ने अभिभावकों से बातचीत की तो सामने आया कि वे उम्मीदों का कोटा लेकर इस शहर में आए हैं।

Astrology

  • मेष

  • वृषभ

  • मिथुन

  • कर्क

  • सिंह

  • कन्या

  • तुला

  • वृश्चिक

  • धनु

  • मकर

  • कुंभ

  • मीन

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें