सरकारी पानी बेचकर चांदी कूटने से लेकर पानी में शराब की बोलतें डालने तक मामले में घेरे में जलदाय विभाग की नाकामी सामने आती जा रही है। टंकियों के जरिए सभी लोगों तक पानी पहुंचाने के दावे की पोल भी खुल रही है।

-

राजधानी में गिनाने के लिए कई इलाकों में प्लास्टिक की टंकियां रखी गई है, लेकिन इनमें से 20 से 35 फीसदी तक काम की ही नहीं है। कहीं टंकियां टूट गई है तो कहीं लोगों ने कब्जा जमा लिया। कई टंकी ऐसी भी है जो गायब ही हो चुकी है। जहां है, उसमें से भी कईयों का नल ही खराब है।

-

Next Slides क्लिक कर देखें आगे...

Astrology

  • मेष

  • वृषभ

  • मिथुन

  • कर्क

  • सिंह

  • कन्या

  • तुला

  • वृश्चिक

  • धनु

  • मकर

  • कुंभ

  • मीन

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें