Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

फलों का जूस सिर्फ मरीजों के लिए ही नहीं है स्वस्थ व्यक्तियों के लिए भी ये उतने ही काम के हैं। जो हेल्दी हैं वे हमेशा हेल्दी बने रहें इसके लिए उन्हें अपने डेली रुटीन में कम से कम एक-दो गिलास फल और सब्जियों का जूस पीना चाहिए। अगर किसी को हेल्थ संबंधी प्रॉब्लम है तो ऐसे लोग हर दो-तीन घंटे में जूस पीएं। गाजर, एपल, ककड़ी, मुनक्के, चुकंदर, खीरा, पाइनेपल आदि का जूस लें। शरीर स्वस्थ व रोगमुक्त रहता है व मोटापा कम होता है। अगर सिर्फ रसाहार पर ही न रह सकें तो अंकुरित अनाज भी साथ ले सकते हैं जिससे भूख मिटेगी और पौष्टिक तत्व भी मिलेंगे। सब्जियों में स्थित क्लोरोफिल में बहुत उत्तम प्रोटीन पाया जाता है जिससे प्रोटीन की कमी नहीं होती है। रस पीने से खून साफ  होता है। पेशाब अधिक होकर शरीर के विषैले तत्व बाहर निकलते हैं। रस शरीर की खराब और डैमेज सेल्स को रिपेयर कर दोबारा निर्माण में मददगार साबित होते हैं। फल या सब्जी के जूस पीने से पाचन तंत्र पर अधिक जोर नहीं पड़ता और शरीर को ज्यादा से ज्यादा पोषक तत्व की प्राप्त होते हैं।

Astrology

  • मेष

  • वृषभ

  • मिथुन

  • कर्क

  • सिंह

  • कन्या

  • तुला

  • वृश्चिक

  • धनु

  • मकर

  • कुंभ

  • मीन

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें