Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

गोविंद देवजी मंदिर के पीछे जयनिवास उद्यान में बना गंगामाता मंदिर की स्थापत्य, शिल्प, खूबसूरती और विशेषताएं ही दर्शनीय नहीं हैं, बल्कि खास है इस मंदिर के निर्माण के पीछे महाराजा माधोसिंह द्वितीय की गंगा माता के प्रति अगाध आस्था। महाराजा ने मंदिर में गंगा  माता की प्रतिमा की स्थापना के समय साक्षात गंगा मैया के दर्शन करने के लिए 10 किलो 812 ग्राम के सोने के कलश में गंगाजल भर कर रखवाया था, जो आज भी मौजूद है और खास बात यह कि 103 साल बाद भी इसमें से गंगाजल की एक भी बूंद भी कम नहीं हुई। (स्टोरी: देवेन्द्र सिंह)

Astrology

  • मेष

  • वृषभ

  • मिथुन

  • कर्क

  • सिंह

  • कन्या

  • तुला

  • वृश्चिक

  • धनु

  • मकर

  • कुंभ

  • मीन

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें